बाड़मेर- राजस्थान के विकास में आज एक नया आयाम जुड़ने जा रहा है। बाड़मेर के पचपदरा में प्रधान मंत्री भारत की सबसे आधुनिक रिफायनरी के कार्य का शुभारंभ करेंगे। 12:30 पर होने वाले इस कार्यक्रम की भव्य तैयारियां की गई है। सीएम वसुंधरा राजे एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान सोमवार को ही बाड़मेर पहुँच गये और कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लिया। इस रिफायनरी की आधारशिला कांग्रेस शासन काल में सोनिया गांधी ने रखी थी।

राजस्थान रिफायनरी पब्लिक सेक्टर में देश का पहला इंटीग्रेटेड रिफायनरी और पेट्रोकेमिकल उपक्रम है। लगभग 43 हजार करोड़ की लागत वाली इस परियोजना को 4 साल में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। राजस्थान सरकार का इस रिफायनरी में अब तक का सबसे बड़ा निवेश है। 9 मिलियन मेट्रिक टन प्रति वर्ष क्षमता वाली इस रिफायनरी से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 10 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।
राजस्थान रिफायनरी की आधारशिला गहलोत सरकार के समय कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा रखी गई थी। प्रधानमंत्री द्वारा रिफायनरी के कार्य का शुभारंभ करने पर पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने सवाल उठाये है उन्होंने कहा कि, रिफाईनरी के पुनः शिलान्यास कार्यक्रम को रद्द करने की बजाय, नाम बदलकर इस कार्यक्रम में आकर पीएम सीएम की फेस सेविंग कर रहे हैं या सीएम पीएम की?

LEAVE A REPLY