धौलपुर जिले के सदर थाना इलाके के भीलगंवा और मियां का पूरा गांव में दो पक्षों में हुए मामूली विवाद ने तूल पकड़ लिया और दोनों तरफ से चली गोलियों में पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि 8 लोग झगडे में गंभीर रूप से जख्मी हो गए। घायलों का जिला अस्पताल में उपचार के लिये भर्ती कराया गया जहां उनका उपचार चल रहा है।  मृतकों के शव मोर्चरी में रखवा दिए है। घटना के बाद पुलिस की टीम जिला अस्पताल और गांव में मौके पर पहुंच गई। तनावपूर्व स्थिति देखते हुए पुलिस बल गांव में कैंप किए हुए है।
जानकारी के मुताबिक सदर थाना क्षेत्र के भिलगंवा और मियां का पुरा गांव में रामस्वरूप कुशवाह पक्ष और उत्तम सिंह कुशवाह पक्ष में दो दिन पूर्व किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। इस मामूली झगड़े के बाद रामस्वरूप पक्ष ने दूसरे पक्ष उत्तम के खिलाफ पुलिस में मारपीट का एक मामला दर्ज कराया था। जिसे लेकर दोनों पक्षों में तनातनी बनी हुई थी। गुरूवार को सुबह दोनों पक्षों का राजीनामा और सुलह कराने की पंचायत भाजपा के पूर्व विधायक शिवराम कुशवाह के घर रखी गई। पंचायत में उत्तम सिंह कुशवाह का पक्ष पहुंच गया। लेकिन रामस्वरूप का पक्ष पंचायत स्थल पर नहीं पंहुचा। पंच पटेलों ने काफी इंतजार कर उत्तम पक्ष को पंचायत स्थल से रवाना कर दिया। उत्तम पक्ष के लोग वापिस घर जा रहे थे तो रास्ते में पहले से ही घात लगाए बैठे रामस्वरूप कुशवाह के पक्ष ने इन लोगों पर फायरिंग कर दी जिसमें उत्तम कुशवाह के भाई सरपंच पति विक्रम कुशवाह की गोली लगने से मौत हो गई और उत्तम कुशवाह भी घायल हो गया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना की जानकारी जैसे ही उत्तम के परिजनों को हुई तो वे लाठी-डण्डे लेकर मौके पर पहुंच गए। जहां दोनों पक्षों में जमकर लाठियां और दोनों तरफ से फायरिंग की गई। जिसमें रामस्वरूप पक्ष के 2 जनों की मौके पर ही मौत हो गई और 2 घायलो ने इलाज के दौरान मौत हो गई। इस संघर्ष में 8 जने घायल हो गए। घायलों को धौलपुर के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना की सूचना पर पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। गांव व अस्पताल में तनावपूर्ण स्थित को देखते हुए पुलिसकर्मी तैनात कर दिए है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अभी स्थिति नियंत्रण में है। हर गतिविधि पर पुलिस की नजर है।

LEAVE A REPLY